अनमोल ज्ञान की बातें – Anmol Gyan ki Bate

अनमोल ज्ञान की बातें – Anmol Gyan ki Bate

Anmolgyan ki Bate AnmolGyan Indiaआनन्दमय जीवन की कला
अनमोल ज्ञान की बातें
Anmol Gyan Ki Bate
  • सम्भव की सीमा जानने का मात्रा एक ही उपाय हैं,
    असंभव की सीमा को पार कर जाना।
    The only way to know the extent of the potential is to cross the limit of impossible.
  • “लगन” और “जीवन” दो बहुत ही महत्त्वपूर्ण शब्द हैं।
    “लग” शब्द में “न” अच्छर जोड़ दिया जाय तो “लगन” बन जाता है।
    “लगन” ही मनुष्य के जीवन को बदलती हैं।।
  • कष्ट या दुःख में स्वयं की उंगलियां आंसू पोंछती है,
    तथा सुख में वही अंगुलियाँ ताली बजाती है।
  • महत्वपूर्ण यह नही है कि आपका उम्र क्या है,
    महत्वपूर्ण यह है कि आप किस उम्र की सोच रखते हैं।
  • मनुष्य, जिंदगी में जितना “सादा” रहेगा, “तनाव” उसका उतना आधा रहेगा।
    Man, as “plain” in life, will be as much as half of “stress”.
  • “स्वयं” को पहचानने से अधिक कोई “ज्ञान” नहीं।
    तथा “क्षमा” करने से बड़ा कोई “दान” नहीं।
    No “knowledge” is more than recognizing “self”.
    And there is no “donation” greater than “pardoning”.
  • चिंता इतनी होनी चाहिए कि काम हो जाए,
    लेकिन इतनी न हो कि जीवन ख़त्म हो जाए।
    Anxiety should be done so that the work is done,
    But not so much that life will end.
  • मनुष्य की एक चीज़ रोज बढ़ रही है, वह है तृष्णा।
    One thing of human being is increasing every day, that is craving.
  • मनुष्य को बहुत “दूर” तक जाना पड़ता हैं केवल यह जानने के लिए “नजदीक” कौन हैं।
    Humans have to go very far “far away” only to know who is “near”.
  • जो व्यक्ति किसी दूसरे के जीवन में हंसी और खुशियां देते हैं,
    ईश्वर, उसके जीवन की हंसी और खुशियों को कम नहीं होने देते हैं।
  • एक चीज़ जो हमेशा समान रहती, वह है “विधि का विधान”।
    The one thing that always remains the same is “the law of GOD”.
  • वह 5 जगह जहाँ हँसना पाप के समान होता है-
    शोक, श्मशान, कथा, अर्थी के पीछे और मन्दिर में।
  • सत्य हैं, ईश्वर के फैसले हमारे सपने या निर्णय से बेहतर होते हैं।
    True, God’s decisions are better than our dreams or decisions.
  • “समय” का खास होना आवश्यक नहीं, बल्कि खास के लिए “समय” होना जरूरी हैं।
  • मनुष्य के अन्दर सीमित शब्द और असीमित अर्थ हो,
    लेकिन इतना हो कि शब्द से कष्ट न हो।
  • शब्दों की मूल्य को कम मत समझिये क्योकि,
    छोटा सा “हाँ” और छोटा सा “ना” पूरा जीवन बदल देता है।
  • बदलते लोग तथा बदलता समय किसी के नही होते,
    सच्चे लोग, ना तो नास्तिक होते हैं, ना ही आस्तिक होते हैं,
    बल्कि सच्चे लोग हर समय वास्तविक होते हैं।
  • मनुष्य की सुन्दरता उसके विचार, कर्म, वाणी, व्यवहार, संस्कार और चरित्र से होता है शरीर से नहीं।
    The beauty of the human beings is from his thoughts, actions, speech, behavior, sentiments and character, not from the body.

– ©अनमोल ज्ञान इंडिया –

About the author

AnmolGyan.com best Hindi website for Hindi Quotes ( हिंदी उद्धरण ) /Hindi Statements, English Quotes ( अंग्रेजी उद्धरण ), Anmol Jeevan Gyan/Anmol Vachan, Suvichar Gyan ( Good sense knowledge ), Spiritual Reality ( आध्यात्मिक वास्तविकता ), Aarti Collection( आरती संग्रह / Aarti Sangrah ), Biography ( जीवनी ), Desh Bhakti Kavita( देश भक्ति कविता ), Desh Bhakti Geet ( देश भक्ति गीत ), Ghazals in Hindi ( ग़ज़ल हिन्दी में ), Our Culture ( हमारी संस्कृति ), Art of Happiness Life ( आनंदमय जीवन की कला ), Personality Development Articles ( व्यक्तित्व विकास लेख ), Hindi and English poems ( हिंदी और अंग्रेजी कवितायेँ ) and more …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *