देश भक्ति गीत – Desh Bhakti Geet

देश भक्ति गीत – Desh Bhakti Geet

Anmol Gyan India Bhartiya Sainik Par Kavitaआनन्दमय जीवन की कला
देश भक्ति गीत हिंदी में : Desh Bhakti Song in Hindi
:: राष्ट्रप्रेम – Rashtra Prem ::
चाह है ह्रदय में समाया रहे राष्ट्रप्रेम,
राष्ट्रभक्ति भाव निज मानस में छाएं नित ।
माथ से लगाए यह माटी जो कि पावन है,
शीश निज मातृभूमि को रहे झुकाएं नित ।
जिसने असंख्य उपकार हम पे किये हैं,
कलम हमारी गीत उसके ही गाएं नित ।
फिर से जगतगुरु बने अपना ये देश,
विश्व मध्य अपना तिरंगा लहराएं नित ।।
:: नेताजी सुभाष चन्द्र बोस – Netaji Subhas Chandra Bose ::
नेताजी सुभाष चन्द्र बोस प्रतिभा के पुंज,
सत्य अनुयायी और पुण्य व्रत धारी थे ।
देख सकते नहीं थे दुःख दीन दुखियों के,
त्यागमय जीवन, परम उपकारी थे ।
साहस, पराक्रम की प्रतिपूर्ति थे सुभाष,
एक थे परन्तु लाख शत्रुओं पे भारी थे ।
भारती की भक्ति में स्वयम हो गए निसार,
नेताजी मनुज थे या कोई अवतारी थे ।
नेताजी सुभाष में अपूर्ण संगठन शक्ति,
साहस व ओज की वे झूमती रवानी थे ।
मातृभूमि हेतु ही सहीं कठोर यातनाएँ,
रंच भी हुए न विचलित, स्वाभिमानी थे ।
तन मन धन और जीवन स्वदेश हिन्द,
पर वार, दिया, ऐसे वीर बलिदानी थे ।
जिसका न शब्दों में बखान हो सकेगा मित्र,
वीरता की तो सुभाष अकथ कहानी थे ।।
:: नायक सुभाष – Nayak Subhas ::
भरा था हृदय अपार प्रेम देशहित,
शस्य स्यामला का कीर्ति गायक सुभाष थे ।
भारत की मुक्ति बरतानिया हुकूमत से-
दिलवाले को, राम सायक सुभाष थे ।
भारतीय जन मानते थे प्राण से भी प्रिय,
भारती का लाल सब लायक सुभाष थे ।
चलता जिधर जनता उधर चलती थी,
तरुणाई का स्वयम् नायक सुभाष थे ।
:: गौरव भरा जीवन ::
राम व कृष्ण की पावन भूमि है,
गंगा कभी कभी सीता है भारत ।
दान में है ये दधीचि रहा,
रणक्षेत्र में ज्ञान की गीता है भारत ।
जान ले विश्व समस्त कि आज भी
वीरता से नहीं रीता है भारत ।
साक्ष्य स्वरूप बना नगराज है,
गौरव से भरा जीता है भारत ।।

– © अखिलेश त्रिवेदी ‘शाश्वत’ –

:: मझधार में नाव है भारत की ::
शुभ भाव विचार के सागर की,
गहराई बनो जलधार बनो ।
कटुता झुलसाय रही जग को,
शुचि प्रेमसुधा रस धार बनो ।
अभिमान मिटावो विधर्मियों का,
गुरु गोबिन्द की तलवार बनो ।
मझधार में नाव है भारत की,
तुम नाविक की पतवार बनो ।

– © योगी देशबन्धु –

About the author

AnmolGyan.com best Hindi website for Hindi Quotes ( हिंदी उद्धरण ) /Hindi Statements, English Quotes ( अंग्रेजी उद्धरण ), Anmol Jeevan Gyan/Anmol Vachan, Suvichar Gyan ( Good sense knowledge ), Spiritual Reality ( आध्यात्मिक वास्तविकता ), Aarti Collection( आरती संग्रह / Aarti Sangrah ), Biography ( जीवनी ), Desh Bhakti Kavita( देश भक्ति कविता ), Desh Bhakti Geet ( देश भक्ति गीत ), Ghazals in Hindi ( ग़ज़ल हिन्दी में ), Our Culture ( हमारी संस्कृति ), Art of Happiness Life ( आनंदमय जीवन की कला ), Personality Development Articles ( व्यक्तित्व विकास लेख ), Hindi and English poems ( हिंदी और अंग्रेजी कवितायेँ ) and more …

1 Comment

  1. I enjoy you because of your entire hard work on this web site. My aunt delights in conducting investigation and it’s really easy to understand why. My partner and i notice all relating to the dynamic means you produce reliable guides through the web blog and as well attract response from the others about this concept so our own simple princess is undoubtedly discovering a great deal. Take pleasure in the rest of the new year. You’re the one doing a terrific job.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *