जीवन पर सुन्दर कवितायें – Beautiful Poems on Life

जीवन पर सुन्दर कवितायें – Beautiful Poems on Life

जिंदगी पर कविता Anmol Gyan Indiaआनंदमय जीवन की कला
जीवन पर कविता हिन्दी में : Jeevan Par Kavita Hindi Me
:: वाणी हो मधुर मेरी, सहज स्वभाव हो ::
जिसने भी किया कुछ भी हमारे हित हेतु,
उसके लिए सदा कृतज्ञता का भाव हो।
शुचि सौभ्यता हमारे देश भारत की-
है महान, इससे सदैव ही लगाव हो।
चाहता है मन गतिमय रहे जीवन ये,
कभी भी न सफर में कोई ठहराव हो।
राम! आपकी कृपा सदैव बनी रहे ताकि,
वाणी हो मधुर मेरी, सहज स्वभाव हो।।

– © अखिलेश त्रिवेदी ‘शाश्वत’ –

:: कविता – Kavita ::
जब उसकी देहरी पर गाती शाम ढले शहनाई है,
तब मेरे मन की बगिया की एक कली मुरझाई है ।
घर-आँगन से खुशियां उजड़ी, चंचलता भी शान्त हुई ।
उसके गए सलोनी रजनी, शोकाकुल, आक्रान्त हुई ।
जर्जर तन सा हुआ पवन वह कहाँ गयी तरुणाई है ?
आज चाँद भी तनिक लजाया और सकुचाया सा आया ।
होकर द्रवित ढूंढता जैसे, अपना रूप, विम्ब, साया ।
‘सत्य’ हुआ क्या तुझे आज क्यों पसरी ये तन्हाई है ?
जीवन अपनों के बिन कैसा ? सपनों का संसार चला ।
प्रियतम की यादों में मन का, छोड़ पखेरू द्वार चला ।
स्वप्न मरे अन्तस् के सारे बिलख उठी अंगनाई है ।
:: हिन्दी मुक्तक – Hindi Muktak ::
गणवेश नहीं, आयुध न रहे, रण-स्यन्दन भी कब के न रहे,
उन्मूलन-काल महीपों का, गज, बाजि शेष अब कुछ न रहे ।
यदि शेष रहा कुछ तो चौसर,महफ़िलें सुरा-सुंदरियों की,
हे पूर्व क्षत्रपों ! अब सँभलो जाने सरिता किस ओर बहे !

– © सत्यव्रत मिश्र ‘सत्य’ –

About the author

AnmolGyan.com best Hindi website for Hindi Quotes ( हिंदी उद्धरण ) /Hindi Statements, English Quotes ( अंग्रेजी उद्धरण ), Anmol Jeevan Gyan/Anmol Vachan, Suvichar Gyan ( Good sense knowledge ), Spiritual Reality ( आध्यात्मिक वास्तविकता ), Aarti Collection( आरती संग्रह / Aarti Sangrah ), Biography ( जीवनी ), Desh Bhakti Kavita( देश भक्ति कविता ), Desh Bhakti Geet ( देश भक्ति गीत ), Ghazals in Hindi ( ग़ज़ल हिन्दी में ), Our Culture ( हमारी संस्कृति ), Art of Happiness Life ( आनंदमय जीवन की कला ), Personality Development Articles ( व्यक्तित्व विकास लेख ), Hindi and English poems ( हिंदी और अंग्रेजी कवितायेँ ) and more …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *