महामृत्युंजय मंत्र का अर्थ हिंदी में – Mahamrityunjay Mantra Meaning in Hindi

महामृत्युंजय मंत्र का अर्थ हिंदी में – Mahamrityunjay Mantra Meaning in Hindi

Mahamrityunjay Mantra in Hindi
महामृत्युंजय मंत्र का अर्थ हिंदी में
Mahamrityunjay Mantra Meaning in Hindi

महामृत्यंजय मंत्र : Mahamrityunjay Mantra–


त्र्यंबकम् यजामहे सुगंधिम पुष्टि: वर्धनम् ।
उर्वारुकमिव बंधनात् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् ।।

=> महामृत्यंजय मंत्र की रचना “मृकण्ड ऋषि” के पुत्र “मार्कंडेय ऋषि” ने किये थे ।

महामृत्युंजय मंत्र का अर्थ : Mahamrityunjay Mantra Meaning –

त्र्यंबकम् = तीन नेत्रों वाले
यजामहे = जिनका हम हृदय से सम्मान करते हैं और पूजते हैं
सुगंधिम = जो एक मीठी सुगंध के समान हैं
पुष्टिः = फलने फूलनेवाली स्थिति
वर्धनम् = जो पोषण करते हैं, बढ़ने की शक्ति देते हैं
उर्वारुकम् = ककड़ी
इव = जैसे
बंधनात् = बंधनों से मुक्त करने वाले
मृत्योः = मृत्यु से
मुक्षीय = हमें स्वतंत्र करें, मुक्ति दें
मा = न
अमृतात् = अमरता, मोक्ष

ॐ नमः शिवाय

– अनमोल ज्ञान इंडिया –

About the author

AnmolGyan.com best Hindi website for Hindi Quotes ( हिंदी उद्धरण ) /Hindi Statements, English Quotes ( अंग्रेजी उद्धरण ), Anmol Jeevan Gyan/Anmol Vachan, Suvichar Gyan ( Good sense knowledge ), Spiritual Reality ( आध्यात्मिक वास्तविकता ), Aarti Collection( आरती संग्रह / Aarti Sangrah ), Biography ( जीवनी ), Desh Bhakti Kavita( देश भक्ति कविता ), Desh Bhakti Geet ( देश भक्ति गीत ), Ghazals in Hindi ( ग़ज़ल हिन्दी में ), Our Culture ( हमारी संस्कृति ), Art of Happiness Life ( आनंदमय जीवन की कला ), Personality Development Articles ( व्यक्तित्व विकास लेख ), Hindi and English poems ( हिंदी और अंग्रेजी कवितायेँ ) and more …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *