क्या आपको मालूम है कि 6 मिनट में क्या हो सकता हैं?

क्या आपको मालूम है कि 6 मिनट में क्या हो सकता हैं?

क्या आपको मालूम है कि 6 मिनट में क्या हो सकता हैं? – Do you know what can happen in 6 minutes?

    => क्या आपको मालूम है कि 6 मिनट में क्या हो सकता हैं?
    (Do you know what can happen in 6 minutes?)
    => हाँ, 6 मिनट में लाखो या करोड़ो लोग रोग मुक्त हो सकते हैं।
    (Yes, millions or millions of people can get rid of disease in 6 minutes.)

    => छः मिनट “ऊँ” का उच्चारण करने से मस्तिष्क मै विषेश वाइब्रेशन (कम्पन) होता है और औक्सीजन का प्रवाह शरीर में सामान रूप से अर्थात प्रयाप्त मात्रा में होने लगता।

  • कई मस्तिष्क रोग दूर होते हैं, स्ट्रेस और टेन्शन दूर होती है तथा सोचने व समझने की शक्ति बढती है।
  • प्रतिदिन सुबह शाम 6 मिनट “ॐ” के 3 माह तक उच्चारण से रक्त संचार संतुलित होता है और रक्त में औक्सीजन लेबल बढता है।
  • रक्त चाप, हृदय रोग, कोलस्ट्रोल जैसे रोग ठीक हो जाते हैं।
    (Diseases like blood pressure, heart disease, cholesterol are cured.)
  • शरीर में ऊर्जा का संचार होता है।
    (Energy is transmitted in the body.)
  • मात्र 2 सप्ताह सुबह और शाम “ॐ” के उच्चारण से घबराहट, बेचैनी, भय जैसे रोग दूर होते हैं।
  • कंठ में विशेष कंपन होता है मांसपेशियों को शक्ति मिलती है।
    (There is a special vibration in the throat and the muscles get strength.)
  • थाइराइड, गले की सूजन दूर होती है।
    (Thyroid, swelling of throat is far away.)
  • एक माह तक दिन में तीन बार 6 मिनट तक “ॐ” के उच्चारण से पाचन तन्त्र , लीवर, आँतों को शक्ति प्राप्त होती है, सैकडौं उदर रोग दूर होते हैं।
  • “ॐ” के उच्चारण से फेफड़ों में विशेष कंपन होता है। इसलिए फेफड़े मजबूत होते हैं।
    (The pronunciation of “OM” has a special vibration in the lungs. Therefore the lungs are strong.)
  • स्वसनतंत्र की शक्ति बढती है।
    (The power of self-reliance increases.)
  • 6 माह में अस्थमा, राजयक्ष्मा (T. B.) जैसे रोगों में लाभ होता है।
    (Diseases like Asthma, Rajayakshma (T. B.) in 6 months are beneficial.)
  • “ॐ” के उच्चारण से आयु बढती है।
    (The pronunciation of “OM” increases the age.)
  • => ये सभी शोध विश्व स्तर के वैज्ञानिक स्वीकार कर चुके हैं।
    नोट:- इसलिए हम सबको “ॐ” का उच्चारण प्रतिदिन करना चाहिए।
    (Therefore, we should pronounce the pronunciation of “everyone” every day.)

– © अनमोल ज्ञान इंडिया –

About the author

AnmolGyan.com best Hindi website for Hindi Quotes ( हिंदी उद्धरण ) /Hindi Statements, English Quotes ( अंग्रेजी उद्धरण ), Anmol Jeevan Gyan/Anmol Vachan, Suvichar Gyan ( Good sense knowledge ), Spiritual Reality ( आध्यात्मिक वास्तविकता ), Aarti Collection( आरती संग्रह / Aarti Sangrah ), Biography ( जीवनी ), Desh Bhakti Kavita( देश भक्ति कविता ), Desh Bhakti Geet ( देश भक्ति गीत ), Ghazals in Hindi ( ग़ज़ल हिन्दी में ), Our Culture ( हमारी संस्कृति ), Art of Happiness Life ( आनंदमय जीवन की कला ), Personality Development Articles ( व्यक्तित्व विकास लेख ), Hindi and English poems ( हिंदी और अंग्रेजी कवितायेँ ) and more …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *