कोरोना वायरस क्या है?- Corona Virus Kya Hai?

कोरोना वायरस क्या है?- Corona Virus Kya Hai?

- in समाचार - News
116
0
Corona Virus Kya Hai in Hindiआनन्दमय जीवन की कला
कोरोना वायरस क्या है हिंदी में?
What is Corona Virus in Hindi?

कोरोना वायरस ( कोविड-19 ): Corona Virus ( COVID-19 ) –

चीन के वुहान (Wuhan of China) प्रांत से शुरू हुए कोरोना वायरस (Corona Virus) ने विश्व कई हिस्सों को चपेट में लेने के बाद अब भारत में भी दस्तक दे दिया है।
यह सच है कि कोरोना (Corona) एक खतरनाक वायरस है लेकिन उतना भी नहीं, जितना लोग भयभीत हैं। इस भय का मुख्य कारण भ्रम, अफवाह और जानकारी के अभाव है। सोशल मीडिया या संचार के अन्य माध्यमों से लोग जब सुनते हैं कि अभी इसकी कोई दवा नहीं बनी है तो वे यह समझते हैं कि जो भी इसकी चपेट में आया उसकी मौत निश्चित है। जबकि सच में ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। लेख लिखने तक कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु दर 3.4% है, जो अन्य वायरल बीमारियों की तुलना में बहुत ज्यादा नहीं है।

कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ (Shortness of breath) जैसी समस्या हो सकती है। इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है, इसलिए न तो अभी लोगों में इसके विरुद्ध इम्यूनिटी विकसित हुई है और न ही इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका बना है।
यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है। (This virus spreads from one person to another. Therefore, great care is being taken about this.)

=> कोरोना वायरस Corona Virus ( COVID-19 ), इनसान के बाल से 900 गुना छोटा है।
=> Corona virus is 900 times smaller than human hair.

क्या हैं कोरोना वायरस बीमारी के लक्षण? : Corona Virus Ke Lakshan

इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना, शरीर में तेज दर्द और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं। (As a result of this infection, problems like fever, cold, difficulty in breathing, runny nose, severe body pain and sore throat arise.)
किसी किसी व्यक्ति में न्यूमोनिया जैसे गंभीर लक्षण भी देखने को मिलता है ।


Corona Virus Ke Lakshan in Hindi

कैंसर, शुगर, हृदय रोग, लीवर या गुर्दे से जुड़े रोग तथा फेफड़ों के संक्रमण जैसे किसी जटिल बीमारी से ग्रस्त रोगियों और कमजोर प्रतिरक्षातंत्र वाले लोगों के लिए यह जानलेवा सिद्ध हो सकता है। (It can prove fatal for patients suffering from a complex disease such as cancer, sugar, heart disease, liver or kidney diseases and lung infections and for those with weak immunity.)

क्या यह लाइलाज है? : Is it incurable?

विशेषज्ञों के हवाले से मीडिया द्वारा बार बार यह बताया जाता है कि अभी इसकी कोई दवा नहीं बन सकी है। इससे आम जन में भय और गलतफहमी पैदा होती है। सच तो यह है के वायरल बीमारियों की कोई दवा नहीं होती, हमारे शरीर में व्याप्त प्रतिरक्षा तंत्र ही इनसे मुकाबला करके इन्हें नष्ट करता है। इस दौरान बड़े बड़े अस्पतालों में जो दवाएँ दी जाती हैं वे या तो रोग के दर्द व ज्वर आदि उपसर्गों को शांत करती हैं या फिर सेकेंडरी इन्फेक्शन रोकती हैं।

रोग तो एक निश्चित अवधि के भीतर स्वयं ठीक होता है। यह कार्य हमारी इम्यूनिटी के कारण होता है, इसमें किसी दवा की कोई भूमिका नहीं होती। हमारे भीतर अब तक आने वाले अनेक प्रकार के वायरस के विरुद्ध प्रतिक्रिया शक्ति विकसित हो चुकी है इसलिए वे अब उतने घातक नहीं सिद्ध होते जितना कि पहले होते थे। चूँकि कोरोना वायरस से हमारा सामना पहली बार हो रहा है इसलिए अभी यह घातक होने सिद्ध हो सकती है। लेकिन जैसे जैसे हमारे भीतर इसके विरुद्ध प्रतिक्रिया शक्ति विकसित होती जाएगी वैसे वैसे यह भी सर्दी जुकाम व फ्लू की भाँति एक सामान्य बीमारी के रूप में परिवर्तित होकर रह जायेगा।

– योगी बलवन्त सिंह –

About the author

AnmolGyan.com best Hindi website for Hindi Quotes ( हिंदी उद्धरण ) /Hindi Statements, English Quotes ( अंग्रेजी उद्धरण ), Anmol Jeevan Gyan/Anmol Vachan, Suvichar Gyan ( Good sense knowledge ), Spiritual Reality ( आध्यात्मिक वास्तविकता ), Aarti Collection( आरती संग्रह / Aarti Sangrah ), Biography ( जीवनी ), Desh Bhakti Kavita( देश भक्ति कविता ), Desh Bhakti Geet ( देश भक्ति गीत ), Ghazals in Hindi ( ग़ज़ल हिन्दी में ), Our Culture ( हमारी संस्कृति ), Art of Happiness Life ( आनंदमय जीवन की कला ), Personality Development Articles ( व्यक्तित्व विकास लेख ), Hindi and English poems ( हिंदी और अंग्रेजी कवितायेँ ) and more …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *