नशा मुक्त भारत कैसे हो – How to become a drug free India

नशा मुक्त भारत कैसे हो – How to become a drug free India

Nasha Mukt Bharat Banane Ke Liye Kya Upayआनन्दमय जीवन की कला
नशा मुक्त भारत : Nasha Mukt Bharat

आज कल नशेबाजी घट नहीं रही है बल्कि बढ़ रही है । नशे के शिकार युवा वर्ग ही नहीं, छोटे बच्चे भी हो रहे हैं । ( Not only the youth of the intoxicant, but also young children. ) युवा पीढ़ी नशे को फैशन समझकर कर रहा है या दूसरे शब्दो में कहे तो एक दूसरे को देखकर नशा कर रहे हैं, ये सोच फिल्मों, टीवी प्रोग्रामों आदि को देखकर आता है । इस प्रकार की सोचने वाला युवा और बड़े बच्चों की संख्या ज्यादा है । नशे को धर्म की भाषा में पाप की संज्ञा दी गयी है । धीरे–धीरे यह मनुष्य के शरीर को खोखला बना देता है । शरीर की जीवन शक्ति क्षीण होने लगती है ।

सभी प्रकार का नशा मनुष्य की क्षमता,सोच और कुशाग्रता पर बहुत बड़ा प्रभाव डालता है । (All types of intoxication have a huge effect on human ability, thinking and sharpness. ) नशा करने वाला व्यक्ति यदि नशा न करे तो एक प्रकार की बेचैनी से होने लगती है । धूम्रपान की श्रेणी में भांग, गांजा, चरस, सिगरेट, बीड़ी आदि की गणना होती है । ( In the category of smoking, cannabis, ganja, charas, cigarette, bidi etc. are calculated. ) पेय नशे के रूप में मदिरा, भांग की गणना होती है । इसके आगे बढे तो अफीम की बारी आती है, फिर हेरोइन, स्मैक आदि महंगे नशीले दवाएँ आने लगी हैं । ( Drinks are considered as alcohol, beans are counted. After this, the use of opium is in place, then heroin, smack etc. expensive drugs are coming.)

इन सभी के सेवन करने वाले को पता नहीं चलता कि वह क्या कर रहा है ? ( The person who consumes all these people does not know what he is doing. ) इसका आदत पड़ जाने के बाद मनुष्य या लोगों को इस प्रकार जकड़ लेता है कि उसको पाने के लिए किसी भी तरह से, उसको किसी भी कीमत पर आवश्यक हो जाता है । ज्यों-ज्यों समय बीतता जाता है त्यों-त्यों उसकी तृष्णा की मात्रा अर्थात उसकी माँग बढ़ती ही जाती है, और अधिक मात्रा के लिए अधिक पैसे कि जरूरत पड़ने लगती है । इतना ही नहीं बल्कि उसके जीवन शक्ति का विनाश क्रम तेजी से बढ़ने लगता है । ( Not only this, but the destruction of his life force starts increasing rapidly. ) बीमारियों का प्रकोप बहुत तेजी से होने लगता है और स्वयं ही कष्ट-पीड़ाओं में घिर जाता है, ( he outbreak of diseases starts to occur very fast and itself suffers in pain and suffering. )जिससे घर वालों को भी उसकी देख-रेख करने के लिए उसमें शामिल होना पड़ता है । पैसे के साथ-साथ उसकी और उसके परिवार वालों की भी जिंदगी बहुत कष्टकारी हो जाती है, और वह स्वयं जीवन-मरण के बीच मौत के दिन को पूरे करता है ।

नशेबाजी का प्रभाव परिवार के साथ-साथ बच्चों पर पड़ने लगता है और वह भी नशे के शिकार हो जाते हैं ( The effects of drug addiction begin to fall on the children along with the family and they become addicted to drugs. )अर्थात उसका और उसके पूरा परिवार का जीवन अंधकार से भर जाता है । ऐसी परिस्थिति में मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा, अर्थव्यवस्था तथा पूरा परिवार और समाज उन्हें उपेक्षा की दृष्टि से देखता है तथा बिभिन्न प्रकार के अपराधों जैसे चोरी, छिनैती, लूट-पाट इत्यादि में भी इजाफा हो रहा है । ( In such a situation, honor, respect, prestige, economy and the whole family and society look at them with neglect, and various types of crimes such as theft, robbery, robbery etc. are also increasing. )

इस प्रकार “नशा मुक्ति भारत” बनाने के लिए हम-आप को सहयोग करना चाहिए । ( To make this “drug addiction India”, we should cooperate with you. ) जिससे हमारा जीवन खुशहाल और आनंदमय हो जाएगा । यही हमारे लेख लिखने का अभिप्राय है ।


नशा मुक्त भारत बनाने के लिए कुछ सुझाव या उपाय निम्नलिखित हैं ( Some suggestions or remedies for making a drug free India are as follows: ) –

  • देश को नशा मुक्त या समृधि बढ़ानी है तो बीड़ी, सिगरेट, तम्बाकू, पान, गुटखा और नशीले पदार्थों पर रोक लगानी चाहिए । ( If the country needs to increase toxicity or increase prosperity then beedi, cigarette, tobacco, paan, gutkha and narcotics should be stopped. )
  • टीवी में ऐसे मादक पदार्थों के विज्ञापन पर रोक लगानी चाहिए । ( The advertisement of such drug substances should be stopped in the TV. )
  • मादक पदार्थों पर कर बढ़ा देना चाहिए । ( The advertisement of such drug substances should be stopped in the TV. )
  • इसके रोक-थाम के लिये सशक्त कानून बनाने चाहिए । ( Strong laws should be made to stop it. )
  • स्कूल-कॉलेजो में निरंतर डॉक्टरी जाँच होती रहे और ऐसी लतों के शिकार पाये गए विद्यार्थियों का उचित इलाज किया जाना चाहिए । ( Continuous medical check of schools and colleges should be done and students treated for such abuse should be treated properly. )
  • सरकारी या गैर सरकारी संस्थानों में धूम्र-पान के लिये सशक्त कानून बनाने चाहिए । ( Government or non-governmental organizations should make strong laws for smoking. )
  • खुले बाज़ार में बेचने वाले मादक पदार्थों पर रोक लगानी चाहिए । ( Drugs that sell in open market should be banned. )
  • लाइसेंस के बिना मादक पदार्थ बेचने वालो को अपराध की श्रेणी में गिना जाना चाहिए तथा उसको सजा भी मिलनी चाहिए । ( Those who sell drugs without licensing should be counted in the category of crime and should be punished.)
  • स्कूल-कॉलेजो में नशा मुक्त का प्रोग्राम होना चाहिए । ( There should be a program of drug addiction in schools and colleges. )
  • जगह-जगह पर “नशा मुक्त भारत” का पोस्टर लगाना चाहिए । जैसे हॉस्पिटल, स्कूल कॉलेज, बाजार आदि । ( Posters of “Intoxication Free India” should be replaced at the place. Such as hospitals, school colleges, markets etc. )
  • यदि हम गांव की बात करे तो, गांव के प्रधान को नशा मुक्त के लिये समय-समय पर जागरूकता कार्यक्रम कराना चाहिए । ( If we talk about the village, then the head of the village should have awareness program from time to time to get rid of drug addiction. )

– Anmol Gyan India –

About the author

AnmolGyan.com best Hindi website for Hindi Quotes ( हिंदी उद्धरण ) /Hindi Statements, English Quotes ( अंग्रेजी उद्धरण ), Anmol Jeevan Gyan/Anmol Vachan, Suvichar Gyan ( Good sense knowledge ), Spiritual Reality ( आध्यात्मिक वास्तविकता ), Aarti Collection( आरती संग्रह / Aarti Sangrah ), Biography ( जीवनी ), Desh Bhakti Kavita( देश भक्ति कविता ), Desh Bhakti Geet ( देश भक्ति गीत ), Ghazals in Hindi ( ग़ज़ल हिन्दी में ), Our Culture ( हमारी संस्कृति ), Art of Happiness Life ( आनंदमय जीवन की कला ), Personality Development Articles ( व्यक्तित्व विकास लेख ), Hindi and English poems ( हिंदी और अंग्रेजी कवितायेँ ) and more …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *